टाइफाइड(Typhoid)

0
टाइफाइड(Typhoid)
टाइफ़ाईड ज्वर को आंत्रिक ज्वर भी कहा जाता है। इसकी उत्पत्ति साल्मोनेला टाईफ़ी नामक जीवाणु से होती है।इस रोग का मुख्य कारण जीवाणुओं से संक्रमित भोजन पदार्थों का उपयोग करना है। इस रोग में आंतें और पाचन संस्थान दूषित हो जाता है और रोग प्रतिरक्षा प्रणाली(इम्युन सिस्टम) अशक्त हो जाती है। निरंतर ज्वर बना रहता है जो संध्या काल से रात में बढ जाता है। सुबह के समय ज्वर न्युनतम रहता है। आंतों मे जख्म हो जाते हैं।त्वचा पर मोती जैसी चमक लिये दाने उभर आते हैं। पेट मे बेहद कष्ट और असुविधा मेहसूस होती है। ज्वर एक बार ठीक होकर पुन:-पुन: आक्रमण कर सकता है।

1. लहसुन
लहसुन की एक कली को पीसकर गरम पानी में मिलाएं। 10 मिनट ढक कर रखें। पानी को छान लें और घूंट घूंट करके धीरे धीरे पीएं। एक दिन में इस पेय को दो बार पीएं। अगले ही दिन आप बुखार से राहत महसूस करेंगे।
दो चम्मच ऑलिव ऑयल (olive oil) में दो कली लहसुन की डालकर भूनें। इस तेल को ठंडा करके पैर के तलवों में लगाएं।
2. तुलसी
पुदीने की बीस पत्तियों में एक छोटी चम्मच अदरक (Ginger) को कद्दूकस करके एक कप पानी में उबाल लें। इस पानी को गुनगुना रहने तक इंतजार करें। इसके बाद इसे छानकर इसमें शहद मिलाकर पीएं। इस पेय को दिन दो से तीन बार ले सकते हैं।
3. लौंग :
आठ कप पानी में 5 से 7 लौंग डालकर उबाल लें। जब पानी आधा रह जाए इसे छान लें। इस पानी को पूरा दिन पीएं। इस उपचार को एक हफ्ते लगातार करें।

4. सेब का सिरका :
किसी कपड़े को एक भाग सिरका और दो भाग पानी लेकर उसमें भिगोएं। उसको चोड़ दें और इस पट्टी को माथे और पेट पर रखें। एक पट्टी पैर के तलवों पर भी रखी जा सकती है। जैसे ही कपड़ा गरम हो जाए, दोबारा घोल में डुबाएं ।
6.शहद
पानी उबालें । उसमें दो चम्मच शहद मिलाकर बार-बार पीते रहें। टाईफ़ाइड में अत्यंत उपकारी है।बिना उबला पा नहीं पीना चाहिये। रोगी को पूर्ण विश्राम देना आवश्यक है।

7. ठंडा पानी :
किसी कपड़े को ठंडे पानी में भिगोकर शरीर को पोंछे। इसके अलावा ठंडे पानी की पट्टियां सिर पर रखने से भी लाभ होता हे और शरीर का तापमान कम होता है। कपड़े को समय समय पर बदलते रहना चाहिए। सामान्य बुखार के लिए यह बेहद अच्छी प्रक्रिया है जो तापमान को बढ़ने नहीं देती। इसके लिए बर्फ या बर्फ के पानी की इस्तेमाल न करके, ताजे पानी का इस्तेमाल करें।

Share.

About Author

Leave A Reply

Time limit is exhausted. Please reload CAPTCHA.